abhi

Just another weblog

13 Posts

112 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 10352 postid : 66

विश्वास कि ताकत

Posted On: 13 Apr, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

रोमन दार्शनिक सिसरो ने कहा था कि ” वह व्यक्ति जिसके अंदर हिम्मत है उसके अंदर विश्वास भी कूट- कूट कर भरा रहता है” इससे एक छोटी सी कहानी याद आ गयी – एक बार एक व्यक्ति को किसी कार्यवश अपने गाँव से नगर जाने कि आवश्यकता पड़ी, गाँव से नगर जाने वाले मार्ग पर एक नदी पड़ती थी परन्तु दैववश उस दिन नदी पार करने के लिए बना पुल टूट गया । व्यक्ति अधीर हो इधर-उधर जाकर नदी पार करने का मार्ग खोजने लगा, तभी उसकी दृष्टी एक पेड़ के नीचे समाधिस्थ सिद्ध पुरुष पर पड़ी । उसने पास जाकर सिद्ध पुरुष को अपनी व्यथा सुनाई और सहायता करने कि प्रार्थना की । सिद्ध पुरुष ने कुछ देर मौन रहने के पश्चात व्यति से कुछ दूरी पर उगे पीपल के वृक्ष से एक पत्ता लाने को कहा, व्यक्ति पत्ता लेकर आया तो उन्होंने अपनी धूनी से एक कोयला उठाकर उस पत्ते पर कुछ लिखा और व्यक्ति तो देते हुए बोले यह जल स्तम्भन मंत्र है इसको कसकर कर मुट्ठी में पकड़ लो इससे तुम्हे जल विचरण की शक्ति मिलेगी पर खबरदार ! दुसरे तट पर पहुचने से पहले इसे मत देखना । वह सिद्ध पुरुष को प्रणाम कर नदी के किनारे पंहुचा, अपने इश्वर को याद करके उसने जैसे ही नदी में पांव डाले आश्चर्य !!वह जल की सतह पर खड़ा था आश्चर्य मिश्रित हर्ष के साथ वह जल में चलता हुआ दुसरे तट पर पंहुच गया । तट पर खड़े हो जब उसने अपनी मुट्ठी में रखे पत्ते को देखा तो उसमे केवल श्री राम लिखा था । वह व्यक्ति नदी पार कैसे कर पाया ?? यहाँ चमत्कार किसका था उस व्यक्ति का या सिद्ध पुरुष का ?? वह व्यक्ति नदी पार कर सका क्योंकि वह वीर था जो उफनती नदी से नहीं घबराया और उसे विश्वास था उस सिद्ध पुरुष पर , निसंदेह यहाँ चमत्कार उस व्यक्ति का था सिद्ध पुरुष ने तो केवल उसका विश्वास जगाया ।
ऐसे ही विश्वास के कारण मानव आज अपनी सीमओं से परे नए आयाम गड़ रहा है इसी विश्वास के कारण कई ऐसे योद्धा निकलकर आये जिन्होंने कैंसर जैसे असाध्य रोग को भी मात दे दी जबकी डाक्टर भी उम्मीद छोड़ चुके थे , पोलियो ग्रसित एक लड़का जो क्रिकेट कि दुनिया का चमकता सितारा बना (भगवत चंद्रशेखर), एक बधिर जो महान संगीतज्ञ बना (बीथोवन ) इतिहास और वर्तमान ऐसे कई उदाहरणॊ से भरे पड़े है । ऐसे चमत्कार छोटे या बड़े कभी न कभी हमारे जीवन में भी घटित हुए होंगे जैसे मेरे एक मित्र के साथ हुआ मेरे मित्र स्वामी नित्यानानद (हाँ वही वाले नित्यानंद ) के बड़े भक्त थे और वह कहते थे कि जब भी वह शंकाग्रस्त होते थे तो वह ध्यान लगाते थे और ध्यान में स्वयं स्वामी जी आकार उनकी शंका का समाधान करते थे, पर स्वामी जी के बारे में जानने के पश्चात मुझे लगता है कि जब मेरे मित्र ध्यानमग्न होते होंगे तब तो स्वामी जी न जाने किस ‘काम ‘ में व्यस्त होंगे तो उनकी समस्या का समाधान कौन करता था ?? वह खुद मेरे मित्र थे जिनका अंतर्मन उनके हर प्रश्नों का उत्तर उन्हें देता था । आजकल ऐसे बड़े – बड़े स्वामी , महात्मा उत्पन्न हो चुके है जो सब रोग, दुःख शोक के निदान का दावा करते है, और कई शिक्षित, अशिक्षित, धनी- निर्धन उनके चरणों में लोटते हुए दिखते है ।पर ये बाबा क्या लोगो के दुःख दूर करेंगे, जिनके कर्म किसी जघन्य अपराधी से भी पतीत है, यहाँ भी जो असली चमत्कार दिखाता है, वो स्वयं वह व्यक्ति होता है जो रोग दुःख शोक से लड़कर विजेता बनकर उभरता है,केवल अपने विश्वास के कारण । इसलिए केवल स्वयं पर विश्वास रखे किसी स्वामी या बाबा पर नहीं , सोचिये जो विश्वास एक पत्थर कि मूरत को भगवान बना सकता है वो क्या नहीं कर सकता ।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

15 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Darnesha के द्वारा
November 5, 2016

Hey! I&2#;178m at work surfing around your blog from my new apple iphone! Just wanted to say I love reading through your blog and look forward to all your posts! Carry on the great work!

yogi sarswat के द्वारा
April 16, 2012

बिलकुल ठीक कहा आपने ! मन का विश्वास बहुत बड़ी चीज है ! विश्वास से और हिम्मत से असंभव सा लगने वाला कार्य आसान हो जाता है ! मित्रवर अभि, बहुत सुन्दर लेख !

    abhii के द्वारा
    April 17, 2012

    धन्यवाद बंधुवर

rekhafbd के द्वारा
April 15, 2012

अभि जी ,सही लिखा है आपने ,अपने में विशवास ही असली ताकत है ,बहुत बढ़िया आलेख

    abhii के द्वारा
    April 17, 2012

    लेख सरहाने के लिए धन्यवाद्

ajaydubeydeoria के द्वारा
April 15, 2012

अभी जी नमस्कार, आपके विचारों से सहमत. सुन्दर आलेख…..

    abhii के द्वारा
    April 17, 2012

    धन्यवाद

rajkamal के द्वारा
April 14, 2012

एक गाँव कि इस्त्रियो को उस गाँव के साधू ने नदी को बिना नाव के पार करते देख कर अचरज से पूछा कि इसका क्या राज है ?….. तब उन भोली भाली ग्रामीण श्रद्धालु नारियों ने कहा कि महाराज ! हम तो बस आपका नाम रटते हुए इस नदी को पार कर जाती है …. उनकी बातो को सुन कर साधू महाराज ने यह सोचते हुए कि मेरे नाम में इतनी शक्ति है कि यह नारिय नदी पार कर जाती है जब खुद अपना नाम लेते हुए नदी कि धारा में पहला पाँव ही डाला था कि बेचारे साधू महाराज यह जा और वोह जा अब आपके द्वारा पूछा गया प्रश्न मैं खुद आपसे ही पूछता हूँ क्लोरोमिंट खाकर जवाब दीजियेगा हा हा हा हा हा हा हा :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :|

    abhii के द्वारा
    April 15, 2012

    राज जी स्त्रियाँ तो पुल से नदी पार कर गयी पर बाबा को आपने जल धरा में धकेल कर अच्छा नहीं किया ….

चन्दन राय के द्वारा
April 14, 2012

अभी जी , विश्वाश में ही वो शक्ति है , जो बड़े से बड़ा कार्य पल में कर देती है , सब ने हनुमान जी को देखा है , जैसे ही उन्हें जाम्वंद ने उन्हें उनके सोये विश्वाश को जगाया उन्होंने सो योजन समुद्र लांघ दिया अच्छी कहानी

    abhii के द्वारा
    April 14, 2012

    मित्र आपकी अमूल्य प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद्

dineshaastik के द्वारा
April 14, 2012

अभि सही है चमत्कार तो जादूगर, ठग  तथा मायावी लोग  करते हैं। संत, बाबा या  भगवान  नहीं। ये तो केवल  सत्य का मार्ग  बताने वाले होते हैं। सुन्दर संदेश  देता हुआ   आलेख , निश्चित ही सराहनीय है।

    abhii के द्वारा
    April 14, 2012

    आपने लेख को सराहा उसके लिए आभार

shashibhushan1959 के द्वारा
April 13, 2012

मान्यवर अभि जी, सादर ! बहुत सुन्दर विचार ! बहुत नेक !!! स्वयं पर विश्वास करनेवाला सब पर विश्वास करता है, अविश्वासी सबको संदेह से देखता है! सुन्दर रचना !

    abhii के द्वारा
    April 14, 2012

    आपकी प्रतिक्रियाये ही और अधिक लिखने की प्रेरणा है , धन्यवाद्


topic of the week



अन्य ब्लॉग

  • No Posts Found

latest from jagran