abhi

Just another weblog

13 Posts

112 comments

abhii


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

बाबा जी का स्वर्गारोहण..

Posted On: 18 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others मस्ती मालगाड़ी में

18 Comments

क्रांतिकारी की कलम से …….

Posted On: 15 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

11 Comments

विश्वास कि ताकत

Posted On: 13 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

15 Comments

झा जी, भई वाह जी !!!!

Posted On: 11 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

20 Comments

मोह का बंधन…..

Posted On: 10 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

7 Comments

यादें दूरदर्शन की

Posted On: 9 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

मस्ती मालगाड़ी में

11 Comments

याज्ञवल्क्य का उपदेश

Posted On: 8 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

4 Comments

सुनो भई साधो!!!

Posted On: 8 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

8 Comments

इश्वर का दान..

Posted On: 7 Apr, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

6 Comments

Page 1 of 212»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: ajaydubeydeoria ajaydubeydeoria

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: ajaydubeydeoria ajaydubeydeoria

एक गाँव कि इस्त्रियो को उस गाँव के साधू ने नदी को बिना नाव के पार करते देख कर अचरज से पूछा कि इसका क्या राज है ?..... तब उन भोली भाली ग्रामीण श्रद्धालु नारियों ने कहा कि महाराज ! हम तो बस आपका नाम रटते हुए इस नदी को पार कर जाती है .... उनकी बातो को सुन कर साधू महाराज ने यह सोचते हुए कि मेरे नाम में इतनी शक्ति है कि यह नारिय नदी पार कर जाती है जब खुद अपना नाम लेते हुए नदी कि धारा में पहला पाँव ही डाला था कि बेचारे साधू महाराज यह जा और वोह जा अब आपके द्वारा पूछा गया प्रश्न मैं खुद आपसे ही पूछता हूँ क्लोरोमिंट खाकर जवाब दीजियेगा हा हा हा हा हा हा हा :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :| :) :( ;) :o 8-) :|

के द्वारा:

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: gopalkdas gopalkdas

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: dineshaastik dineshaastik

के द्वारा: abhii abhii

के द्वारा: abhii abhii




latest from jagran